मैंने हमेशा खेल पूरी ईमानदारी से खेला


Suresh-Raina_18762_edited.jpg

एक व्यवसायी से रिश्वत लेने के ललित मोदी के आरोपों को खारिज करते हुए भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने आज कहा कि वह पूर्व आईपीएल आयुक्त के लिये कानूनी कार्रवाई करने पर विचार कर रहे हैं और वह कभी किसी तरह के गलत कामों में शामिल नहीं रहे।

खेल प्रबंधन कंपनी रीति स्पोर्ट्स की तरफ से जारी बयान में रैना ने कहा, ‘मेरे बारे में हाल की मीडिया रिपोर्टों के संदर्भ में मैं विश्व भर में अपने प्रशंसकों को जागरूक और स्थिति स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैंने यह खेल हमेशा सही खेल भावना और पूरी ईमानदारी से खेला।’ रैना रीति स्पोर्ट्स से जुड़े हैं।

उन्होंने कहा, ‘मैं कभी किसी तरह के गलत कामों में शामिल नहीं रहा और मेरे खिलाफ लगाये गये सभी आरोप गलत हैं। मैंने जिस भी टीम का प्रतिनिधित्व किया क्रिकेट खेलना मेरा जुनून रहा। मैं इस मामले पर उचित कदम उठाने के लिये अपने कानूनी अधिकारों का उपयोग करने पर विचार कर रहा हूं।’

ललित मोदी ने आरोप लगाये थे भारत के दो शीर्ष क्रिकेटरों और वेस्टइंडीज के एक खिलाड़ी ने रीयल एस्टेट से जुड़े एक व्यवसायी जो सट्टेबाज भी है, से रिश्वत ली थी। लंदन में रह रहे ललित ने एक पत्र ट्वीट किया जिसके बारे में उन्होंने दावा किया कि वह उन्होंने 2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) सीईओ डेव रिचर्ड्सन को लिखा था। ललित ने इसके बाद उन तीन खिलाड़ियों के नामों का खुलासा किया जिनके बारे में उन्होंने दावा किया था कि उनके व्यवसायी से करीबी संबंध हैं।

ललित ने कहा था कि उन्हें ‘विश्वसनीय सूत्रों’ ने बताया कि इस व्यवसायी ने तीनों खिलाड़ियों को नकद और अचल संपत्ति दी थी। आईसीसी ने स्वीकार किया कि उसे ललित से पत्र मिला था लेकिन उसने क्रिकेटरों को यह कहकर क्लीन चिट दे दी थी कि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है। बीसीसीआई ने भी खिलाड़ियों को क्लीन चिट दे दी थी।